प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना को बढ़ावा देने हेतु अभियान

0
15


अप्रैल 2017 के बाद पहले बच्चे को जन्म देने वाली माँ को भी मिल सकता है योजना का लाभ
झांसी। प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के प्रति लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए सूचना, शिक्षा और संचार के तहत अभियान चलाया जा रहा है ‘सुपोषित जननी विकसित धरनी’। इस उपलक्ष्य में मुख्य चिकित्सा अधिकारी सभागार में कार्यवाहक चिकित्सा अधिकारी डॉ. आर.एस. वर्मा और अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एन.के. जैन की अध्यक्षता में शुक्रवार को सभी स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ बैठक हुई। इसमें जनपद में कार्यरत सभी स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।
बैठक में अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के अंतर्गत वर्ष 2017 अप्रैल में यदि किसी महिला ने अपने पहले बच्चे को जन्म दिया है वह भी इस योजना का लाभ उठा सकती है। इसके लिए उनका गरीबी रेखा से नीचे होना या उनका प्रसव सरकारी संस्थान में ही होना जरूरी नही है। बस वह किसी सरकारी नौकरी में कार्यरत न हो और उनके पास आधार कार्ड और बैंक में खाता होना चाहिए, जो आधार कार्ड से लिंक हो।
जनपद में वर्ष 2017 जनवरी से अभी तक लगभग 17980 लाभार्थियों का पंजीकरण हो चुका है। यह योजना पहली बार गर्भवती होने वाली महिलाओं के लिए है। यह योजना गर्भवती महिलाओं के पोषण और स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए बनाई गयी है। इसके तहत पंजीकरण कराने के साथ ही गर्भवती को प्रथम किश्त के रूप में एक हजार रूपये दिए जाते हैं। प्रसव पूर्व कम से कम एक जाँच होने पर छः माह बाद दूसरी किश्त के रूप में दो हजार रूपये और बच्चे के जन्म का पंजीकरण होने और बच्चे के प्रथम चक्र का टीकाकरण पूरा होने पर तीसरी किश्त के रूप में दो हजार रूपये दिए जाते हैं।

LEAVE A REPLY