पुरानी पेंशन: दूसरे दिन कार्यलयों में हुई तालाबंदी

0
57

झांसी। कर्मचारी शिक्षक, अधिकारी पुरानी पेंशन बहाली मंच उ.प्र द्वारा पूरे प्रदेश में की जा रही है। छः दिवसीय हड़ताल के दूसरे दिन सिंचाई विभाग माताटीला प्रखण्ड पर हड़ताली सभा अजय यादव अध्यक्ष पुरानी पेंशन बहाली मंच एवं अखिलेश मिश्रा संयोजक पुरानी पेंशन बहाली मंच की संयुक्त अध्यक्षता में आयोजित की गई। सभा को सम्बोधित करते हुये अजय यादव ने कहा कि शासन कर्मचारी शिक्षकों अधिकारियों पर दवाब बनाने का काम न करें। क्योकि कर्मचारी शिक्षक, अधिकारी पुरानी पेंशन बहाली हेतु कोई भी कीमत चुकाने को तैयार है। किसी भी उत्पीड़न की कार्यवाही से डरने वाले नहीं है। अब हम पुरानी पेंशन लेकर ही रहेंगे।
अखिलेश मिश्रा ने कहा कि कर्मचारियों शिक्षको अधिकारियों का आन्दोलन कभी भी बेकार नहीं गया हैै। सरकार को उनकी मांगों को पूरा करना पड़ा है। अगर सरकार ने ज्यादा उत्पीड़न किया तो पूरे प्रदेश का कर्मचारी, शिक्षक, अधिकारी आवश्यक सेवाओं के साथ प्रदेश बंद कर देगा। जिसकी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।
इ. सुधीर कौशिक ने कहा कि सरकार आसानी से हमारी बात नहीं मानेगी लक्ष्य को पाने के लिये कुछ त्यागना पड़ता है हमें पेंशन समय मंच को देना होगा, जिससे सरकार पर दवाब बनेगा और तब सरकार हमारी पुरानी पेंशन की सुविधा बहाल करेंगी।
कृष्णा व्यास ने कहा कि सरकार द्वारा कर्मचारियों को एस्मा का भय दिखाया जा रहा है। कर्मचारियों शिक्षको को इससे डरने की जरूरत नहीं है।
दिनेश भार्गव सचिव राज्य कर्मचारी महासंघ ने हड़ताल सभा को सम्बोधित करते हुये कहा कि आपको संगठन में आस्था रखनी होगी संगठनों के प्रयास से ही आपको पुरानी पेंशन मिल सकेगी। आप सभी एक जुट होकर आन्दोलन में शमिल होकर प्रान्तीय पदाधिकारियों का मनोबल ऊँचा करें।
अब्दुल रहीश सिद्धीकी ने समस्त कर्मचारियों, शिक्षको से कहा कि उन्हें सरकार से डरने की कोई चिन्ता नहीं है। क्योंकि प्रान्तीय संगठन आपके साथ कंधे से कंधा मिलाकर आपके साथ है कर्मचारियों शिक्षको के हित में यदि कोई बलिदान देना पड़े तो हम देने को तैयार है।
कृष्णकान्त पटेल ने कहा कि सरकार चाहे काम नहीं तो वेतन नहीं का भय दिखाये आपको डरने की कोई आवश्यकता नहीं है और अधिक से अधिक संख्या में भाग लेकर हड़ताल को सफल बनायें 8 फरवरी को माताटीला प्रांगण सिंचाई विभाग में प्रातः 11 बजे से हड़ताली सभा की जायेगी।
बैठक के दौरान ब्रम्हानंद तिवारी राजाराम यादव, प्रदीप शर्मा, रामबाबू विश्वकर्मा, एल.के पुरोहित, डाॅ. अचल सिंह, लाल सिंह यादव, इं. बृजभान सिंह, इं. विन्दाप्रसाद, प्रागी लाल, प्रदीप यादव, डाॅ. कादिर खान, भारत सिंह, राकेश गबरेले, रितुल त्रिपाठी, सीताराम पाल, अरविन्द श्रीवास्तव, कुंदन लाल, जय गोपाल पटेल, विनोद निरंजन, नंदनी श्रीवास्तव, राजेन्द्र नागर, गौरव तिवारी, इजहार खान, प्रयाग नारायन, सविता, शिव सिंह, सीतापाल चौहान, लाखन सिंह, इं. आर्य कुमार गुप्ता, अब्दुल हफीज सिद्धीकी, कमलेश परिहार, अभिनेयेन्द्र सिंह भदौरिया आदि ने विचार व्यक्त किये।
हड़ताली सभा में मनोज शर्मा, प्रदीप कुमार, प्रदीप यादव, अरूण साहू अनामिका तिवारी, वंदना अवस्थी, स्वदेश यादव, आशा वर्मा, नीतू वर्मा, हीरा लाल रावत, मनोज सक्सेना, इं. सुरेन्द्र सिंह पाल आदि मौजूद रहे। सभा का संचालन प्रसून तिवारी एवं आभार भगवान दास कुशवाहा ने व्यक्त किया।

LEAVE A REPLY