कोहिनर ने दिये कम्बल तो गरीबों ने भी दी दुआयें

0
20

झांसी। सर्दी का सितम हो और खुले आसमान के नीचे रात बिताना हो वो भी बिना किसी गर्म कपड़े के यह सोचकर ही हमारी आपकी रूह काॅप जायेगी पर बेसहारा बेघर गरीब की जिन्दगी में हर रात ऐसी ही आती है, पर यदि कोई आकर तन पर कपड़ा डाल दे तो मानो मन की मुराद पूरी हो गई। सर्दी अब अपने पूरे सितम पर और गरीब सड़को पर रात बिता रहा है। इसी को ध्यान में रखते हुये हर बार की तरह इस बार भी कोहिनूर आॅलवेज ब्राईट संस्था की अध्यक्ष वैशाली पुंशी व उनकी टीम शनिवार की मध्य रात्रि में कम्बल लेकर निकली और रास्ते मंे जो भी गरीब सड़क किनारे बिना किसी वस्त्रों के सोते मिला उसे कम्बल देकर उसका हाल पूछा कम्बल पाकर गरीबों के चहेरे खिले और सर्दी के सितम से राहत भी मिली कोहिनूर के इस कार्य को जिसने भी रात में देखा संस्था की महिला सदस्यों की सराहना की सही मायने में यही है समाज सेवा।
इस मौके पर राहुल सक्सेना भूमिका सिंह ,सिमरन चढ़ा ,मीनू कुरेशी, जीत पुंशी ,योगेश सिंह,संजय चढ़ा,तौसीफ कुरेशी, मोहनलाल सुमन,आकाश मलिक, ऋषि भटनागर, कौशल खरे आदि उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY