दहेज की खातिर एक और नवविवाहिता की मौत

0
24

मात्र तीन माह पूर्व हुआ था विवाह, आत्महत्या या हत्या की गुत्थी में उलझी पुलिस
समथर झाँसी । मात्र 3 माह पूर्व हुई शादी के बाद नवविवाहिता की जलकर मौत के बाद पुलिस हत्या या आत्महत्या की गुत्थी में उलझ गई है। शासन-प्रशासन की लाख कोशिशों के बावजूद महिलाओं पर होने वाले अत्याचार, घरेलू हिंसा, दहेज की घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। महिलाओं को सुरक्षा देने के लिए पुलिस के अधिकारी केवल दावे ही करते रहते है, लेकिन कहीं दहेज तो कहीं घरेलू हिंसा के चलते महिलाएं आत्महत्या जैसे कदम उठाने के लिए मजबूर हैं। एक ऐसा मामला सामने आया जिसने भी सुना उसका दिल पिघल गया क्योंकि मृतिका के मां बाप का पहले ही बचपन में स्वर्गवास हो गया था। उसकी शादी ग्राम ग्यारई द्वारका थाना पूछ निवासी फूफा ने शादी की थी। शादी के मात्र 2 माह बाद फूफा का स्वर्गवास हो गया जिससे मृतिका दुख से व्याकुल थी लेकिन ससुराल वालों को उस पर तरस नहीं आया। श्रीमती वैष्णवी पुत्री स्वरूप सिंह निवासी ग्राम मंबूसा थाना पूंछ की शादी समथर थाना क्षेत्र के ग्राम महुआ खेड़ा निवासी कालीचरण उर्फ कल्लू राजपूत के पुत्र धर्मेंद्र राजपूत के साथ हिंदू रीति रिवाज के अनुसार हुई थी उसके फूफा ने अपनी हैसियत से कहीं अधिक खर्च कर शादी की थी लेकिन ससुराल वाले इस से संतुष्ट नहीं थे। यह आरोप मृतका के फुफेरे भाई अशोक कुमार राजपूत ग्राम ग्यारई द्वारका थाना पूछ निवासी ने पुलिस को दिए प्रार्थना पत्र में लगाते हुये बताया कि ससुराली जन आए दिन दहेज की मांग पूरी न करने पर मारपीट करते थे। तहरीर के आधार पर पुलिस ने सास श्रीमती राम देवी पत्नी कालीचरण, ससुर कालीचरण उर्फ कल्लू पुत्र मुकुंदी लाल एवं पति धर्मेंद्र पुत्र कालीचरण के खिलाफ धारा 498 ए 304 बी आईपीसी एवं 3/4दहेज प्रतिषेध अधिनियम के अंतर्गत मामला पंजीकृत कर लिया है। हालांकि पुलिस अभी हत्या व आत्महत्या को लेकर गुत्थी सुलझाने में जुट गई है।

LEAVE A REPLY