आवाज से वंचित खेल में अव्बल प्रतिभा सम्मानित

0
41

जन सूचना अधिकार मंच पहुंचा प्रतिभा के द्वार
झांसी। जिस बच्ची को ईश्वर ने बोलने व सुनने से वंचित रखा। उस बच्ची ने अपने प्रतिभा से सभी का दिल जीत लिया। 10 वर्ष की उम्र में ही जिला स्तर तक अपनी प्रतिभा से प्रथम स्थान प्राप्त कर चुकी प्रतिभा को जन सूचना अधिकार मंच ने सम्मानित किया।
महानगर में करगुवा निवासी हरदौल प्रजापति की 10 वर्ष की पुत्री नेहा न तो बोल पाती है और न ही सुन पाती है। इसके बाद भी वह पढ़ाई के साथ साथ खेल कूद में अपनी प्रतिभा से परिवार ही नहीं स्कूल व क्षेत्र के लोगों का दिल जीत लेती है। जिला स्तरीय 50 मीटर दौड़ में प्रथम स्थान प्राप्त कर चुकी हैं तो वहीं भरी हुई चम्मच मुंह में दबाकर 50 मीटर तक दौड़ में जिला स्तर पर द्वितीय स्थान प्राप्त कर चुकी है। उक्त प्रतिभा की जानकारी लगने पर जन सूचना अधिकार मंच के पदाधिकारी व सदस्य उसके घर पहुंचे। इतनी कम उम्र में कई प्रमाण पत्र व मेडल प्राप्त कर चुकी प्रतिभा को प्रतिभा रत्न से सम्मानित किया गया। प्रतिभा के पिता ने कहा कि उसकी पुत्री आवाज से जरूर वंचित है लेकिन प्रतिभा की धनी हैं वहां जहां भी जाती है अपनी प्रतिभा से लोगों को ध्यान आकर्षित करती है। मंच के आहवान पर उसके पिता ने कहा कि बेटी को आगे बढ़ने में कोई अड़चन नहीं आने दी जायेगी। इस दौरान राजेश तिवारी, मनोज मिश्रा, आशीष कुशवाहा, सुमन्त सिंह, विजय कुमार शर्मा, लाखन सिंह पटेल, प्रेम कुमार पटेल, जय प्रकाश सेन, ओम प्रकाश अहिरवार, अनिल कुमार, राजेश कुमार, कल्यान तिवारी, हरिकान्त जोशी, सुनील सिंह चौहान आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY