नलकूप चालक परीक्षा का पेपर हुआ लीक, एसटीएफ ने 11 लोगों को पकड़ा

0
88

नई दिल्ली । उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने नलकूप चालक के 3210 पदों के लिए रविवार को होने वाली परीक्षा स्थगित कर दी गई है। यह कदम पेपर लीक होने के बाद उठाया है। एसटीएफ ने इस मामले में मेरठ से 11 लोगों को हिरासत में लिया है।
अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (यूपीएसएसएससी) की रविवार को प्रस्तावित नलकूप चालक चयन परीक्षा का पेपर लीक हो गया। जिस कारण आयोग ने राजधानी लखनऊ सहित आठ केंद्रों पर होने वाली प्रतियोगी परीक्षा स्थगित कर दी है। टीम ने 11 लोगों को दबोचा है। आरोपियों के पास से 15 लाख रूपए बरामद किए गए है। इसके अलावा पेपर बरामद किए हैं। प्रिंटिंग प्रेस और ट्रेजरी की तलाश जारी है। संदेह जताया जा रहा है कि इसमें परीक्षा आउट कराने वाले माफिया राणा गैंग का हाथ है।
बता दें कि नलकूप चालक चयन परीक्षा के लिए आवेदन पिछली सरकार में लिए गए थे। 3210 पदों के लिए दो लाख से अधिक आवेदन आए थे। नई सरकार में आयोग के पुनर्गठन के बाद इसकी चयन प्रक्रिया को आगे बढ़ाने का फैसला हुआ था। आयोग ने राजधानी लखनऊ के साथ कानपुर, इलाहाबाद, गोरखपुर, वाराणसी, मेरठ, बरेली और आगरा में लिखित परीक्षा कराने का फैसला किया था। परीक्षा केलिए करीब 400 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे और ट्रेजरी को प्रश्नपत्र भेज गए थे। आयोग शनिवार को नलकूप चालक की रविवार की परीक्षा की तैयारी में जुटा था कि इसी बीच सोशल मीडिया पर प्रश्नपत्र वायरल हो गया। आयोग के अध्यक्ष सीबी पालीवाल ने बताया कि वायरल प्रश्नपत्र का मिलान कराया गया है। इसमें पेपर लीक होने की पुष्टि हुई है। ऐसे में रविवार को होने वाली लिखित परीक्षा स्थगित करते हुए प्रकरण को जांच के लिए पुलिस की एसटीएफ को सौंप दिया गया है।

LEAVE A REPLY