थाने में डॉक्टर को बेरहमी से पीटा, एसएसपी ने सिपाही को किया लाइन हाजिर

0
346

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर थाने में तैनात एक सिपाही ने पुलिस महकमें की लुटिया डुबोकर रख दी। दरअसल यहां एक डॉक्टर की नौकरानी के पिता को पुलिस उठाकर थाने ले आई थी, डॉक्टर जब थाने जानकारी लेने पहुंचा तो पुलिसकर्मियों ने अभद्रता की। पीड़ित का आरोप है कि विरोध करने पर तीन पुलिसकर्मियों ने उसे कमरे में बंद करके बेंत और पाइप से पीटा। थर्ड डिग्री देने के बाद डॉक्टर को संदिग्ध लोगों के बैरक में बंद कर दिया। पीड़ित के परिजनों के पहुँचने के बाद काफी हंगामा हुआ तो पुलिस ने डॉक्टर को छोड़ दिया। थाना स्तर पर कोई कार्रवाई ना होने पर पीड़ित एसएसपी कलानिधि नैथानी से मिला। एसएसपी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए आरोपी सिपाही को लाइन हाजिर कर विभागीय जांच के आदेश दिए हैं।

पुलिस उपमहानिरीक्षक को दिए गए शिकायती पत्र में फ्लैट नंबर 201 यूपीआरएनएन कॉलोनी सेक्टर-19 इंदिरा नगर लखनऊ निवासी डॉ. सर्वेंद्र विक्रम सिंह पुत्र विनोद कुमार सिंह ने बताया कि वह वर्तमान समय में डॉक्टर राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान में इमरजेंसी मेडिसिन में चिकित्सक के पद पर कार्यरत है। शुक्रवार की रात करीब 12ः15 बजे मेरे यहां कार्यरत नौकरानी ने मुझे जानकारी दी कि उसके पिता को कुछ पुलिसकर्मी गाजीपुर थाने उठाकर ले गए हैं, मेरी मदद करें।

इसके बाद पीड़ित गाजीपुर थाने पर गया और मौके पर मौजूद आरक्षी अमित कुमार व अन्य पुलिसकर्मियों से अपनी नौकरानी के पिता के बारे में पूछा। आरोप है कि उन्होंने मेरा परिचय जानने के बाद भी गालियां देना शुरु कर दिया। आरोप है कि 3 पुलिसकर्मी घसीटते हुए थाना परिसर में बने एक कमरे के भीतर ले गए और मुझे बेंत और पाइप से बेरहमी से पीटा। आरोप है कि सिपाही बंद करने की लगातार धमकी दे रहे थे।
आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने हवालात में पहले से बंद कुछ संदिग्ध लोगों के साथ मुझे बंद कर दिया। आरोप ये भी है कि सिपाही कुछ छपे हुए फार्म पर हस्ताक्षर बनाने के लिए दबाव बनाते रहे। थोड़ी देर के बाद पीड़ित का परिवार आ गया। इसके बाद बड़ी मुश्किल से पुलिसकर्मियों ने उसे छोड़ा। आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने पीड़ित की जेब में रखे करीब 8000 रुपये जबरदस्ती छीन लिए।

पीड़ित ने आलाधिकारियों से गुहार लगाई तो मामला एसएसपी कलानिधि नैथानी के संज्ञान में आया। एसएसपी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरक्षी अमित कुमार को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया। एसएसपी ने आरोपी सिपाही के खिलाफ विभागीय जांच करने के भी निर्देश दिए हैं।

LEAVE A REPLY