जिला विद्यालय निरीक्षक व जिलापूर्ति अधिकारी पर पच्चीस-पच्चीस हजार का दण्ड लगा

0
45

झांसी। सूचना के अधिकार नियमावली-2015 के अन्तर्गत वादी को सत्य सूचना उपलब्ध कराना अनिवार्य ही नहीं अपितु वादी का अधिकार है, इसमें शिथिलता बर्दास्त नहीं की जायेगी। अधिकारी नियमावली को बार-बार पढ़े ताकि नियमावली-2015 की समस्त जानकारी हो सके, नियमावली में उपलब्ध विभिन्न धाराओं में कड़े प्राविधान है। उनकी अवश्य जानकारी रखी जाये। सूचनाओं का समय से उपलब्ध न कराना भी अपराध की श्रेणी में आता है।
यह उद्गार राज्य सूचना आयुक्त गजेन्द्र यादव ने मण्डलायुक्त न्यायालय में जनपद की अपीलकर्ताओं की द्वितीय अपील की सुनवाई करते हुये व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि राज्य सूचना आयोग की यह एक अभिनव पहल है कि मण्डल मुख्यालय पर शिकायतकर्ताओं की अपील सुनी जा रही है, अधिकारी व शिकायतकर्ता के समय की बचत के साथ ही धन की बचत होगी।
उन्हें सर्किट हाउस में गार्ड आफ आनर दिया गया। मण्डलायुक्त सभागार पहुंचे वहां उपस्थित अपर आयुक्त प्रशासन व अन्य अधिकारियों ने स्वागत किया। सभागार में उपस्थित अधिकारियों से बात करते हुये उन्होंने सीधे शब्दो में कहा कि अपीलकर्ता द्वारा जो भी सूचना मांगी गई है और सूचना आपके पास है तो आप को देना होगा, आप बच नहीं सकेंगे। उन्होंने सूचना का अधिकार नियमावली-2015 की विभिन्न धाराओं के सम्बन्ध में अधिकारियों का ज्ञानवर्धन किया।
मण्डलायुक्त न्यायालय में राज्य सूचना गजेन्द्र यादव ने आज जनपद झांसी के 55 केसो की सुनावाई की के समय समस्त पक्षकार उपस्थित रहे। सुनवाई के दौरान 19़ केसो का निस्तारण हुआ। जिला विद्यालय निरीक्षक डाॅ. नीरज कुमार पाण्डेय पर 25 हजार रूपये का अर्थदण्ड आरोपित किया गया। इसी प्रकार जिलापूर्ति अधिकारी अनूप तिवारी पर 25 हजार अर्थदण्ड आरोपित किया गया है।
अन्य निस्तारित केसो में विवेक मुदगिल बनाम बीएसए झांसी प्रकरण में दोनो पक्ष राज्य सूचना आयुक्त के समक्ष संतुष्ट रहे, अपीलकर्ता ने जो सूचना बीएसए कार्यालय से मांगी थी। आज राज्य सूचना आयुक्त के समक्ष उपलब्ध करा दी गयी।
अन्य निस्तारित केसो में विवेक मुदगिल बनाम बीएसए झांसी प्रकरण में दोनो पक्ष राज्य सूचना आयुक्त के समक्ष संतुष्ट रहे, अपीलकर्ता ने जो सूचना बीएसए कार्यालय से मांगी थी आज उन्हें राज्य सूचना आयुक्त के समक्ष उपलब्ध करा दी गयी।
द्वितीय निस्तारित प्रकरण भी बीएसए कार्यालय से सम्बन्धित रहा जिसमें सतीश चन्द्र स्वर्णकार जो विभिन्न कर्मचारी है व बीएसए ने लिखकर दिया कि हम संतुष्ट रहे।
3 जुलाई को भी सभी अपीलकर्ताओ की सुनवाई की जायेगी। जो राज्य सूचना आयोग की वबेसाइड पर कोजलिस्ट है, सभी पीठासीन अधिकारी तैयारियों के साथ उपस्थित रहे।
इस मौके पर अपर आयुक्त प्रशासन श्रीमती उर्मिला सोनकर खाबरी, एस.पी.आर.कुलदीप नारायण, नरेन्द्र कुमार, एसीएम सुरेन्द्र कुमार सहित अन्य अधिकारी बड़ी संख्या में पत्रकार उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY