मेडिकल कॉलेज में मारपीट का वीडियो वायरल होने से हड़कम्प

0
76

-दो जूनियर डॉक्टर्स को किया निलम्बित
झाँसी। महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज हमेशा जूनियर डॉक्टर्स के व्यवहार को लेकर चर्चाओं में रहता है। आज जूनियर डॉक्टर द्वारा एक तीमारदार को पीटने का वीडियो वायरल हुआ है। इससे हड़कम्प मच गया। बहरहाल अपनी साख को बचाने के लिए दो जूनियर डॉक्टर्स को निलम्बित कर दिया गया है।
मेडिकल कॉलेज कभी ऑपरेशन के दौरान कटा पैर मरीज के सिरहाने रखने, कभी जूनियर डॉक्टर्स द्वारा मरीज के साथ मारपीट करना, तो कभी मरीज को भगा देना और विरोध करने पर अभद्रता धरना-प्रदर्शन करने को लेकर चर्चाओं में रहता है। अभी कुछ दिनों पहले एक मरीज दुर्घटना में घायल हो गया था। ऑपरेशन करने के बाद उसका कटा पैर मरीज के सिरहाने रख दिया था। इस मामले में शासन, प्रशासन स्तर से जाँच की गई थी। इस घटना की खबर प्रकाशित करने से जूनियर डॉक्टर बौखलाये हुए थे। इसी दौरान एक पत्रकार एक मरीज की वीडियो बनाने लगा, तो उसके साथ अभद्रता कर मोबाइल फोन छीन लिया था। इसको लेकर पत्रकारों व जूनियर डॉक्टर्स के मध्य विवाद हो गया था। बाद में प्रशासन के हस्तक्षेप से मामला निपटा था।
इतना सब कुछ होने के बावजूद जूनियर डॉक्टर कहाँ सुधरने वाले थे। बताते हैं कि दो दिन पहले सर्जिकल वॉर्ड में भर्ती एक मरीज के पिता ने जूनियर डॉक्टर से पुत्र के इलाज के सम्बन्ध में बात की, तो जूनियर डॉक्टर ने उसे थप्पड़ रसीद कर दिया। जूनियर डॉक्टर द्वारा मरीज के पिता से की गई मारपीट की वीडियो एक व्यक्ति ने बना ली और वायरल कर दी। वीडियो वायरल होने से हंगामा खड़ा हो गया। मामले को रफादफा करने के उद्देश्य से सर्जिकल विभागाध्यक्ष डॉ. राजीव सिन्हा ने मरीज के पिता से मारपीट करने वाले दो जूनियर चिकित्सकों को निलम्बित कर दिया।
इस सम्बन्ध में मेडिकल कॉलेज के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. हरीश आर्य ने बताया कि मारपीट का वीडियो मेडिकल कॉलेज के सर्जिकल वॉर्ड का है। इस मामले में दो जूनियर डॉक्टर को निलम्बित कर दिया गया है।
सीएम के आगमन को लेकर हुई कार्यवाही
अभी तक मेडिकल कॉलेज में इतनी जल्दी किसी भी जूनियर डॉक्टर या अन्य स्टाफ के खिलाफ कार्यवाही नहीं की गई, जितनी जल्दी इस घटना में मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने फैसला लिया। इस कार्यवाही को 16 अप्रैल को मुख्यमन्त्री के झाँसी आगमन से जोड़कर देखा जा रहा है।

LEAVE A REPLY