पुलिस की कृपा से फलफूल रहा मादक पदार्थो का धंधा

0
58

दूसरे राज्यों से स्मैक, गांजा, अफीम, शराब बड़ें पैमाने पर आकर कालपी में बिक्री जोरो पर
कालपी (जालौन)। कालपी पुलिस के संरक्षण में अबैध रूप से चल रहे शराब, स्मैक, गांजा के धन्धों से शहर की युवा पीढ़ी का पुनः बर्वादी करण शुरू हो गया है। जिससे आय दिन चोरियां आदि हो रही है जिनका पर्दाफास स्थानीय पुलिस के लिये चुनौती बनी हुई है।
कालपी नगर में इस समय दूसरे राज्यों से स्मैक, गांजा, अफीम, शराब बड़ें पैमाने पर आकर शहर में जगह-जगह बिकने के कारण नगर में स्मैककियों की बाढ़ आने के कारण माता-पिता परेशान एंव घवड़ाहट महसूस कर रहे है। नगर में प्रतिदिन लाखों रूपयो की स्मैक, गांजा, शराब की बिक्री होने से यह खतरनांक मादक पदार्थ ग्रामीणआंचल में पहुंच जाने से ग्रामीणों की दुर्दशा खराब होना शुरू हो गई। मादक पदार्थो के अलावा पूरे शहर में जगह-जगह जुंये के अड्डे चलने से शहर में चोरियां तथा घरेलू चोरियां इतनी बड़ गयी है कि नागरिक परेशान एंव कर्जदार हो गये है। कालपी कोतवाली क्षेंत्र में हुई चोरियों का अधिकांश पार्दाफास न होना स्थानीय पुलिस को चुनौती साबित हो रही है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार शहर में इस समय प्रतिदिन करोड़ो रूपये का जुंआ हो रहा है कई जुयें के अड्डो में तो पुलिस के लोग खड़े हो कर अपना हिस्सा लेते देखे गये है इस समय शहर का यह हाल है कि हारे हुये जुआरी शहर में चोरिया ंभी कर रहे है जिनकी कालपी थाने में रिपोर्ट तक नही लिखी जा रही है। कालपी नगर में इस समय खुलेआम जुंआ होना तथा स्मैक, शराब, गांजा, शराब बिकने के कारण यह धार्मिक शहर अपराधिक नगर होता जा रहा है। उप्र सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ का सपना है कि हमारा प्रदेश अपराध मुक्त हो लोग शांति से रहे नागरिको को किसी तरह की परेशानी न हो लेकिन कालपी में उप्र सरकार के आदेशों का सरेआम उलंघन करके पूरे नगर का सुख चैन छीन लिया है। एक दर्जन से अधिक युवा स्मैक के नशे में इतने आदी एंव बीमार हो गये है कि वे जिन्दगी एंव मौत से जूस रहे है माॅ-बाप इलाज कराते-कराते कंगाल हो रहे है।
कालपी थाने में जुयें, स्मैक, शराब आदि कि बिक्री की शिकायत लेकर जाने वाले सम्मानित नागरिको को धारा 151 में बन्द करने की धमकी देकर भगा दिया जाता है। कालपी थाना में माननीय उच्चतमन्यायालय के उन आदेशों की धज्जियां उड़ाई जा रही है जिसमें यह कहा गया है कि नागरिकों के अधिकारों का संरक्षण हो प्रत्येक शिकायतकर्ता को थानो में सम्मान से बिठाया जाये तथा उसके कष्टो को पुलिस दूर करे। कालपी में होने वाले थाना दिवस, समाधान दिवस में फरियादियों का आना बन्द हो गया है ऐसा लगता है जैसे कालपी में अपराध होना बन्द हो गये है। शहर के आधा दर्जन नागरिकों ने उप्र सरकार के गृहसचिव को भेजी शिकायतों में कहा है कि कालपी कोतवाली क्षेंत्र में हो रहे अबैध मादक पदार्थो की बिक्री तत्काल रोकी जावे तथा जुयें के अड्डों को सम्पूर्ण बन्द किये जावे। इस संबंध में कालपी सर्किल के तेज तर्रार क्षेत्राधिकारी सुबोध गौतम का कहना है कि उक्त मादक पदार्थो तथा जुआं के अड्डों को चिन्हित कर लिया गया है जिसमें दबिस देकर कार्यवाही बडी तेजी से पुलिस कर रही है।

LEAVE A REPLY