स्वच्छता सबके लिए विषय पर प्रिया ने आयोजित की कार्यशाला

0
74

-जानकारों ने रखे अपने विचार, नगर को सर्वश्रेष्ठ बनाने का लिया संकल्प
झांसी। प्रिया-पार्टिसिपेटरी रिसर्च इन एशिया संस्था एवं नगर निगम द्वारा संयुक्त रुप से स्वच्छता से जुड़े मुद्दे पर शुक्रवार को शहर स्तरीय कार्यशाला का आयोजन नगर निगम सभागार में किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि मुख्य जोनल सफाई निरीक्षक रवि निरंजन व अध्यक्ष पत्रकारिता विभागाध्यक्ष डा.सीपी पैन्यूली ने दीप प्रज्जवलन कर किया। कार्यशाला में नगर के कई प्रतिष्ठित समाजसेवी संस्थाओं के संचालक,नगर निगम के अधिकारी/कर्मचारी व तमाम पार्षदगणों ने सहभागिता की।
कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए प्रिया के वरिष्ठ कार्यक्रम अधिकारी सुधीर सिंह ने स्वच्छता सर्वेक्षण का प्रस्तुतिकरण किया। उन्होंने वार्ड एवं स्लम स्तर पर सर्वेक्षण में एकत्र किए गए आंकड़ों की जानकारी लोगों के समक्ष रखी। सेण्टर फॉर साइंस एण्ड इनवॉयरमेंट नई दिल्ली से रिसोर्स परसन नेहा वालानी ने कूड़ा-कचरा प्रबन्धन पर विस्तृत प्रकाश डालते हुए लोगों को इसके प्रति जागरुक रहने की नसीहत दी। उन्होंने दिल्ली का उदाहरण देते हुए बताया कि कैसे वहां कचड़े की समस्या से लोग परेशान हैं। उन्होंने कहा कि कचरा पानी व मिट्टी के माध्यम से हमारे पास वापस आता है। कचरे को समाप्त तो नहीं कर सकते परन्तु इसे हम सकारात्मक रुप में खाद आदि बनाने में कर सकते हैं। मुख्य अतिथि रवि निरंजन ने अपने संबोधन में शहर में ठोस कूढ़ा प्रबंधन के लिए किए जा रहे प्रयासों के बारे में जानकारी दी। कार्यक्रम अध्यक्ष डा. सीपी पैन्यूली ने शिक्षण संस्थानों से ठोस कचरा प्रबंधन के लिए छात्रों को तैयार करने की अपील की। प्लास्टिक बेस्ट मैनेजमेंट के सिटी को-ऑर्डिनेटर ऋषिकांत राय ने ट्रीटमेंट प्लांट की जानकारी देते हुए लोगों को कचरे के प्रबंधन को बेहतर बनाने को कहा। उन्होंने कहा कि प्लास्टिक आदि पर बैन लगाया जाना अब संभव प्रतीत नहीं होता। इसलिए बेहतर है इसे हम बेहतर प्रबंधन में लाएं। प्रिया नई दिल्ली से कार्यक्रम अधिकारी नीलांज्जना भट्टाचार्य ने महिला सफाई कर्मियों से जुड़े झांसी में किए गए अध्ययन पर प्रस्तुतिकरण करते हुए महिलाओं को रोजमर्रा में सामना करने वाली समस्याओं से रु-ब-रु कराया। सफाई कर्मचारियों के लिए राष्ट्रीय कौशल विकास मिशन में संभावनाओं के बारे में जानकारी प्रदान करते हुए सुश्री निधि बत्रा ने बताया कि कौशल विकास निगम द्वारा विभिन्न विषयों में लोगों को प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है। इसके लिए कर्मचारियों को आगे आकर अपने आप को प्रशिक्षित किया जाना चाहिए। वरिष्ठ समाज सेविका डा.नीति शास्त्री ने बेवजह फूलां की बर्बादी,प्रसाद के दौने, नारियल की जटाओं व माननीयों के लिए पहनाए जाने वाले फूलों के हारों से होने वाली हानियों को गिनाते हुए इसके लिए लोगों को जागरुक करने को कहा। उन्होंने कहा कि प्रिया ने पहली बार कई एनजीओ और गणमान्य नागरिकों को एक मंच पर लाकर खड़ा किया है। ये सराहनीय कार्य है। वहीं व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष संजय पटवारी ने कहा कि झांसी को प्रिया जैसी संस्था की आवश्यकता बनी रहेगी। आज रात में जो सफाई का कार्य आप देख रहे हैं,वह वास्तव में एक बड़ा परिवर्तन है। बताया कि उन्होंने कई दुकानों पर कचरे के लिए डस्टबिन रखवाए हैं। तो समाज सेवी संस्था जन कल्याण समिति के अध्यक्ष जितेन्द्र तिवारी ने कहा कि यदि स्लम सुधर गया तो समझ लीजिए कि नगर सुधर गया। होर्डिंग्स लगाने और रैली निकालने से बदलाव नहीं आने वाला। उसके लिए लोगों से संवाद जरुरी है। मार्गश्री संस्था के संचालक ध्रुव सिंह यादव ने कहा कि नगर के लोग जो कहते हैं वही करते हैं। नगर के विकास में मुख्य भूमिका एनजीओज की बताई। समर्पण समाजसेवी संस्थान की संचालिका अपर्णा दुबे ने प्राथमिक विद्यालयों में छात्रों को स्वच्छता के प्रति जागरुक करने पर बड़ी सफलता मिल सकती है। इसके लिए हमें छोटे स्तर पर कैंप आदि का आयोजन करना चाहिए। कार्यशाला में पार्षद श्रीमति सुशीला दुबे,कमला राकेश यादव,रामकुमारी,प्रियंका, ममता कुशवाहा,शांति,संजय सिंह राजपूत, सुनील, पुष्पेन्द्र वर्मा,पुष्पेन्द्र यादव,शाहिद,दिनेश प्रताप सिंह,रविन्द्र सिंह लवली,नीरज गुप्ता,किशोरी रायकवार, भरत सेन समेत दर्जनों पार्षदों व समाज सेवियों ने सहभागिता कर अपने विचार रखे। प्रिया के सरोज,रागनी,आरती,आशा,सीमा,सायरा,सतीश,संजय कुमार,रवि कुमार,ब्रजेश,ओमकार,शुभम राजेश आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन व सत्रों को मॉडरेट करने का कार्य दिल्ली से आए प्रिया के कार्यक्रम प्रबंधक अंशुमन करोल ने किया। सभी का धन्यवाद ज्ञापन सुरुचि शर्मा ने किया।

LEAVE A REPLY