भाजयुमो अध्यक्ष पद के लिए चार दावेदार

0
72

झाँसी। लोकप्रियता के रथ पर सवार भाजपा में पद पाने के लिए मारामारी तेज हो गई है। पार्टी की युवा इकाई में नए-नए दावेदार निकलकर आ रहे हैं। अब तक चार युवाओं ने महानगर अध्यक्ष पद के लिए दावा ठोंक दिया है।
भारतीय जनता पार्टी का युवा मोर्चा नए प्रदेश अध्यक्ष बनने के समय से ही भंग चल रहा है। महानगर में भाजपा की जबर्दस्त पकड़ है और राजनीति में ऊंचा मुकाम पाने के लिए महानगर अध्यक्ष का रास्ता सबसे अच्छा है। इस कारण यह पद पाने के लिए हर कोई लालायित है। छात्र राजनीति से ही भाजपा के लिए सक्रिय बीकेडी के पूर्व छात्रसंघ महामंत्री नितिन वाजपेयी, परमजीत सिंह मन्नी, दिगंत चतुर्वेदी और विनीत खटीक ने महानगर अध्यक्ष बनने के लिए दावेदारी की है। चारों दावेदार पार्टी के लिए मजबूत हैं लिहाजा किसी एक नाम पर मुहर लगाने में संगठन को परेशानी आ रही है। सूत्रों की मानें तो भाजपा जातीय संतुलन साधने की कोशिश में है। मुख्य संगठन में जिलाध्यक्ष का पद ब्राह्मण व महानगर अध्यक्ष का पद वैश्य के पास है। इसी तरह सदर विधायक जहां ब्राह्मण हैं वहीं महापौर वैश्य समुदाय से है। लिहाजा पार्टी सवर्ण की बजाय किसी अन्य वर्ग से युवा मोर्चा अध्यक्ष बनाने की योजना है। युवा मोर्चा का जिलाध्यक्ष पद पिछड़ावर्ग के पास है। ऐसे में दलित को जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। दूसरी ओर अल्पसंख्यक वर्ग पर भी पार्टी की निगाह है। अल्पसंख्यक वर्ग से सिख समाज के एकमात्र दावेदार परमजीत सिंह को महानगर अध्यक्षी सौंपी जा सकती है। उनकी पृष्ठभूमि आरएसएस की है। उनके पिता रणजीत सिंह जीते और मां भाजपा के टिकट पर नगर पालिका पार्षद के साथ संगठन में भी विभिन्न पदों पर रहे। लिहाजा परमजीत पार्टी की पसंद बन सकते हैं।

LEAVE A REPLY