पाल कॉलोनी में अवैध मिल्क चिलिंग प्लान्ट पकड़ा

0
32

झांसी। खाद्य सुरक्षा विभाग की छापामार कार्यवाही जारी रही। मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी राम लखन कुशवाहा के नेतृत्व में खाद्य सुरक्षा अधिकारी रवीन्द्र सिंह परमार, बिजय बहादुर पटेल, कपिल गुप्ता, दीपक कुमार और अरविन्द साहू की टीम ने सिमरधा बाई पास के पास पाल कॉलोनी में छापा मारकर अम्बिका आइस एंड चिलिंग सेंटर नाम से संचालित एक अवैध मिल्क चिलिंग प्लांट पकड़ा। 6000 लीटर की क्षमता वाले इस प्लान्ट में बिना लाइसेंस के अवैध रूप से दूध संग्रह और प्रोसेस्ड कर बाहर पाउडर प्लाण्ट को सप्लाई किया जा रहा था। टीम ने यहाँ से दूध का एक नमूना लेते हुए तत्काल प्रभाव से कारोबार पर रोक लगाते हुए वैध लाइसेंस लेने के उपरान्त ही कारोबार संचालित करने के निर्देश दिए। टीम के सदस्य बाईपास पर कई वाहनों को चेक करते रहे। इसके बाद टीम ने नंदनपुरा स्थित अपना किराना स्टोर से सरसों के तेल का एक नमूना, आवास विकास स्थित राम जी दुग्ध एवं मिष्ठान्न भण्डार से बर्फी का एक नमूना लिया। इसके बाद वाहनों को चेक करते हुए टीम अभिहित अधिकारी राजेश द्विवेदी की अगुवाई में रक्सा तक गई। वहीँ शिवपुरी रोड सिजवाहा गांव में अरविन्द पाल के मिल्क कलेक्शन सेंटर से दूध का एक नमूना जांच के लिए लिया। यहाँ पंजीकरण पर चल रहे दुग्ध संग्रह केंद्रों को क्षमता के अनुसार वैध अनुज्ञप्ति लेने के निर्देश भी टीम द्वारा दिए गए। इसके बाद टीम ने मसीहागंज में मनीराम साहू की किराना दुकान से कचरी का एक नमूना लिया। जहाँ बिना पंजीकरण खाद्य कारोबार करने की वजह से टीम की कार्यवाही से वो भाग खड़ा हुआ।
होली के त्यौहार को देखते हुए अभिहित अधिकारी राजेश द्विवेदी ने आम जनमानस से अपील की है कि वो चमकीली और रंगीन मिठाइयों और खाद्य सामग्री से बचें। मिलावट करने वाले इसी के आड़ में मिलावट छुपाने की कोशिश करते हैं।खाने के रंगों की अधिकता से विभिन्न प्रकार के कैंसर, पेट में अल्सर और यकृत तथा गुर्दे सम्बन्धी रोग हो सकते हैं। कहीं पर किसी भी प्रकार की मिलावट सम्बन्धी कोई संदिग्ध जानकारी हो तो उसे 05102470345 या 9044086790 पर सूचित कर सकते है।

LEAVE A REPLY