गांव.गांव पहुंचेगी मृदा परीक्षण की मोबाइल वैनः हेमा मालिनी

0
40

-किसानों की फसलों की पुरानी प्रजातियों का भी होगा पंजीकरण
-वैज्ञानिक करेंगे सीधे किसानों को लाभान्वित, एक हजार से अधिक किसानों ने लिया भाग
मथुरा। पं. दीन दयाल उपाध्याय पशु चिकित्सा विज्ञान विण्वि एवं गो अनुसंधान संस्थान मथुरा के अधीन संचालित कृषि विज्ञान केन्द्रए मथुरा द्वारा गोवर्धन क्षेत्र के गांव पलसों स्थित सती मंदिर प्रागंण में कृषि सहकारिता एवं किसान कल्याण विभागए कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालयए भारत सरकार के सहयोग से पौधा किस्म और कृषक अधिकार संरक्षण अधिनियमए 2001 विषय पर आधारित एक दिवसीय विशाल किसान जागरूकता सम्मेलन एवं कृषि प्रदर्शनी का आयोजन किया गया ।
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि बतौर सिने तारिका एवं सासंद हेमा मालिनी ने फसल बीमा योजनाए प्रधानमंत्री सिचाई योजनाए टपक सिचाईए नीम कोटिड यूरियाए डेयरी उधोगए ग्रीनहाउसए बकरी पालनए कुक्कट पालनए मधुमक्खी पालनए फूलों की खेतीए मत्सय पालनए मृदा स्वास्थ्य कार्डए तथा मोबाइल मृदा परीक्षण वैनए जल संरक्षण सहित केन्द्र व प्रदेश सरकारों द्वारा किसानों के हित में चलाई जा रही योजनाओं का लाभ लेने के लिए किसानों से आवाहन किया। जिससे किसानों की आय दोगुनी हो सके। उन्होंने वेटनरी विवि को एक मोबाइल पशु चिकित्सा वैन देने की घोषणा की। उन्होंने क्षेत्रवासियों की समस्याएं भी सुनी तथा उनके निस्तारण करने का भरोसा दिलाया। विशिष्ट अतिथि गोवर्धन क्षेत्र के विधायक ठाकुर कारिन्दा सिंह ने कहा कि किसानों की आमदनी दोगुनी करने के लिए हर तरह के संसाधन मुहैया कराए जा रहे हैं। पूर्व सांसद एवं भाजपा जिलाध्यक्ष तेजवीर सिंह ने कहा कि सरकार किसानों एवं पशुपालकों की आमदनी बढाने के लिए तीन दर्जन से अधिक योजनाएं शुरु की गई हैं वैज्ञानिक गांव गांव जाकर नई तकनीकी देकर प्रदर्शन करवा रहे हैं। जिससे किसानों की आय दोगुनी होगी तथा देश समृद्धिशाली होगा। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे विण्वि के कुलपति प्रोण् केण्एमण्एलण् पाठक ने कहा कि विवि व विवि का कृषि विज्ञान केन्द्र दोनों ही किसानों एवं पशुपालकों की समस्याओं के निस्तारण के लिए तेजी से काम कर रहे हैं। पिछले छह माह के अंदर इसी तरह के तीन विशाल कार्यक्रमों को करवाकर जनपद के किसानों को लाभान्वित किया गया है। पिछडे तथा ग्रामीण अंचल में किसान संगोष्ठियां एवं पशुपालन शिविरों का भी आयोजन किया जा रहा है। जनपद के कृषि एवं पशुपालन के विकास में विवि के योगदान के विषय में जानकारी दी।
कृषि विज्ञान केन्द्र के अध्यक्ष डाण् एसण्केण् मिश्रा ने कहा कि किसानों द्वारा फसलों की संजोकर रखी गई पुरानी प्रजातियों का पंजीकरण करवाकर इसका लाभ ले सकते हैं। डाण् मिश्रा ने कपासए उर्दए मूंग तथा आगामी फसलों के बारे में नई तकनीकी जानकारी दी। सीडीओ पवन कुमार गंगवार ने जनपद में सरकार द्वारा किसानों एवं ग्रामीणों के हित चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी दी। किसान युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष ठाकुर महिपाल सिंह ने कहा कि कृषि विज्ञान केन्द्र जनपद में अच्छा कार्य कर रहा है । केन्द्र व प्रदेश सरकारों किसानों की आमदनी दोगुनी करने के लिए कई सराहनीय कदम उठाए गए हैं। कार्यक्रम में सांसद प्रतिनिधि जनार्दन शर्माए वरिष्ठ भाजपा नेता संजय गोविल का विशेष सहयोग रहा। ग्राम प्रधान राधा देवी एवं प्रधान प्रतिनिधि बालकिशन शर्मा द्वारा गांव की समस्याओं से सांसद को अवगत कराया जिसके समाधान का आश्वासन दिया गया है। मंचासीन अधिष्ठाता एवं रजिस्ट्रार डाण् पंकज शुक्ला ने कहा कि विवि के चिकित्सक एवं केवीके के वैज्ञानिक किसानों के प्रक्षेत्र पर लगातार कार्यक्रम करा रहे हैं किसानों की मांग पर भविष्य में भी ऐसे कार्यक्रम होते रहेंगे। कार्यक्रम में जय प्रकाश शर्माए महादेव प्रसाद शर्माए दुर्गाप्रसादए पातीरामए श्रीचंदए सती मंदिर के मंहत देवकीनंदनए भिक्की राम तथा गांव के अन्य गणमान्य नागरिकों का विशेष सहयोग रहा हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता वेटनरी विवि के प्रोण् केएमण्एलण्पाठक तथा संचालन कृषि विज्ञान केन्द्र के अध्यक्ष डाण् एसण्केण् मिश्रा ने किया।

LEAVE A REPLY