सुरक्षा पर सवाल है गिरासू इमारत

0
42

बरसाना (रिपोर्ट गिरधारीलाल) मथुरा। लठामार होली स्थल रंगीली गली के बाहर बनी गिरासू इमारत से सुरक्षा पर खतरा बना हुआ है। प्रशासन हर बार मेला बैठकों में कागजी कार्रवाई करता है लेकिन मेला समाप्त के बाद यह प्रक्रिया थम जाती है। विश्व प्रसिद्ध लठामार होली की तैयारियों का खाका खींचने के लिए हर बार प्रशासन बैठक कर रंगीली होली चौक स्थित जर्जर इमारतों पर कार्रवाई करने की बात करता है। लेकिन हर बार कार्रवाई सिर्फ कागजों में सिमट कर रह जाती है। जबकि रंगीली गली के चारो तरफ जर्जर इमारतों का जाल बिछा है, उक्त इमारतें सौ से डेढ़ सौ बर्ष पुरानी हैं जो कभी भी अपना जबाब दे सकती हैं। लठामार होली के दौरान जर्जर इमारतों व गलियों में लाखों की संख्या में श्रद्धालु होली का आनंद लेने के लिए एकत्र होते हैं। उक्त होली स्थल पर ही वीआइपी भी मौजूद रहते हैं। इस बार प्रदेश के कई कैबिनेट मंत्री सहित पुलिस प्रशासन के उच्चाधिकारी अपने परिवार के साथ मेला का आनंद लेंगे। जानकारों की मानें तो गिरासू इमारतों के कारण बड़े हादसा से इन्कार नहीं किया जा सकता। जबकि 2012 में भी राधाष्टमी मेला के दौरान लाड़ली जी मंदिर में भगदड़ मच गई थी। जिस हादसे में तीन श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी। पुलिस प्रशासन हर बार लठामार होली के दौरान उक्त इमारत मालिकों को सिर्फ नोटिस देकर अपनी खानापूर्ति कर लेता है। नगर पंचायत के ईओ राजेश चौधरी ने बताया कि उक्त जर्जर इमारतों को अधिग्रहण करने का अधिकार प्रशासन को है, हम तो सिर्फ नोटिस ही दे सकते हैं।

LEAVE A REPLY