रक्तदान से बड़ा कोई दान नही : सौम्या अवस्थी

0
34

आकांक्षा समिति अध्यक्षा ने किया पहली बार रक्तदान

झांसी : रक्तदान बहुत ही नेक काम है। इससे बड़ा कोई दान नही है। आज मैं पहली बार झांसी आयी हूं और मेरी अध्यक्षता में ही पहला आयोजन स्वैच्छिक रक्तदान शिविर एवं रक्तदाता पंजीकरण शिविर का है। इस शिविर में पहली बार मुख्य अतिथि के रुप में सौभाग्य प्राप्त हुआ है। उन्होने बताया है कि आज तक मैने रक्तदान नही किया, मगर आज मैं स्वयं रक्तदान शिविर में अपना रक्तदान देकर स्वयं सौभाग्यशाली बनने का अवसर प्राप्त हुआ है।
यह बात मुख्य अतिथि श्रीमती सौम्या अवस्थी धर्मपत्नी शिव सहाय अवस्थी जिलाधिकारी झांसी, अध्यक्षा आकांक्षा समिति ने बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय के केन्द्रीय पुस्तकालय प्रांगण में विशाल स्वैच्छिक रक्तदान शिविर एवं रक्तदाता पंजीकरण शिविर के आयोजन का फीता काटकर शुभारम्भ करते हुए छात्र-छात्राओं के मध्य व्यक्त की। उक्त शिविर जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग एवं आंकाक्षा समिति के तत्वाधान में आयोजित कराया गया। उन्होने कहा कि रक्तदान करके देखो अच्छा लगता है। बचाये किसी की जान, आओ करे रक्तदान। आपके इसी उत्साह को देख मेरा मन प्रसन्न हुआ। यही उत्साह आज मेरा भी मन रक्तदान करने का हुआ। उन्होने कहा कि हर किसी को स्वयं स्वस्थ रहना होगा और झांसी को स्वस्थ बनाने में सहयोग देना होगा।
इस अवसर पर मा. कुलपति बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय प्रो. सुरेन्द्र दुबे ने श्रीमती सौम्या अवस्थी को अपनी बेटी बनाते हुए सम्बोधित किया है कि आज पहली बार मेरे घर आप मेरी बेटी बनकर आयी है और मैने उनका स्वागत भी एक पिता तरह ही किया। उनको यहां पर अपने मायके जैसा महौल मिलेगा, ताकि उनको अपने मायके की कमी महसूस नही होगी। उन्होने छात्र-छात्राओं को रक्तदान करने के प्रति जागरुक किया और रक्तदान करके दूसरों के जीवन को बचाने में अपनी सहभागिता देने का सुझाव दिया है।
इस मौके पर डॉ. नीति शास्त्री सचिव जिला आकांक्षा समिति ने पहली बार नगर आगमन पर श्रीमती सौम्या अवस्थी धर्मत्नी शिव सहाय अवस्थी जिलाधिकारी का स्वागत करते हुए कहा कि आज विशाल स्वैच्छिक रक्तदान शिविर एवं रक्तदाता पंजीकरण शिविर के आयोजन जिला प्रशासन व आकांक्षा समिति के तत्वाधान पर किया गया। उन्होने कहा कि उ.प्र. शासन की मंशानुरुप झांसी, ललितपुर और जालौन में एक साथ विशाल स्वैच्छिक रक्तदान शिविर एवं रक्तदाता पंजीकरण शिविर के आयोजन हो रहा है। उन्होने बताया है कि इस शिविर में पचास से अधिक रक्तदाताओं को प्रमाण-पत्र वितरित किये जाएगे। उन्होने बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय के छात्र/छात्राओं से कहा कि आप अपने कैरियर में रक्तदान देकर जो प्रमाण-पत्र आपको प्राप्त होगा तो उसे आप अपने कैरियर इस्तेमाल करके जीवन को सशक्त बना सकते है। रक्तदाता आप हमे रक्तदान दो हम आपको स्वास्थ्य देगे। उन्होने महिलाओं को ज्यादा से ज्यादा रक्तदान करने के लिए जागरुक कर प्रेरित किया, ताकि समाज के विकास में अपना अतुल्यनीय योगदान प्रदान कर सके।

. कुलपति बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय झांसी प्रो. सुरेन्द्र दुबे एवं श्रीमती सौम्या अवस्थी द्वारा डॉ. जितेन्द्र प्रताप शिक्षा विभाग, डॉ. नईम समाज कार्य विभाग बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय नितिन कुशवाहा, आसिफ अंसारी, प्रशस्त्रि जैन, मुकेश प्रजापति, रजत सहित समस्त रक्तदाताओं को प्रमाण-पत्र वितरित किये गये।
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि श्रीमती सौम्या अवस्थी अध्यक्षा जिला आकांक्षा समिति का स्वागत करते हुए तुलसी का पौधा भेंट किया। साथ ही अन्य अतिथियों का भी तुलसी पौधा भेंट किया गया।
संचालन डॉ. नईम ने करते हुए बताया कि आज स्वैच्छिक रक्तदान शिविर में भारी संख्या में छात्र/छात्राओं ने पंजीकरण कराया है। शिविर सायं 5 बजे तक निरंतर संचालित रहेगा।
स्वैच्छिक रक्तदान शिविर के आयोजन के अवसर पर अपर निदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य झांसी मण्डल झांसी डॉ. एस.बी. मिश्रा और मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. सुरेश सिंह विशिष्ट सहयोगी ने भी अपने-अपने विचार व्यक्त किये।
इस अवसर पर डॉ. सुनील कुमार कब्या डी.एस.डब्ल्यू. बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय झांसी, डॉ. वी.पी. सहगल, डॉ. सी.पी. पैन्दुली, डॉ. जे. श्रीदेवी केन्द्रीय पुस्तकालय इंचार्ज, डॉ. कब्या दुबे, डॉ. के.एल. सोनकर, डॉ. जितेन्द्र प्रताप, डॉ. पूनम, डॉ. श्वेता पाण्डेय ललित कला संस्थान, जिला चिकित्सालय झांसी की ब्लड बैंक की टीम में डॉ. एम.एस. राजपूत रक्तकोष प्रभारी, राघवेन्द्र सिंह चन्देल, दिनेश, प्रशान्त लैब टैक्नीशियन, हरितप्रभा काउन्सर, दिलीप अवस्थी, विनोद, अमित सहित बुन्देलखण्ड विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राएं व एन.सी.सी. की छात्र-छात्राएं भी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY