लोकतंत्र के महापर्व में पूर्ण मनायोग से हिस्सा लें: जिलाधिकारी

0
4

पीठासीन अधिकारियों व मतदान अधिकारियों को दिया गया प्रशिक्षणझांसी। मतदान लोकतंत्र का महापर्व है, इसमें सभी अपने पूर्ण मनोभाव से हिस्सा लें। इसे उत्सव की तरह मनाये। पोलिंग पार्टी क्षेत्र में आथित्य स्वीकार न करें। मतदेय स्थल पर रवाना होने से पूर्व चैक लिस्ट से सामान का मिलान अवश्य कर लें। मतदेय स्थल के अंदर सीसीटीवी कैमरा बंद रखे जाए ताकि मतदान की सुचिता प्रभावित न हो। पीठासीन अधिकारी संवेदनशील होकर अपने कार्यो का निवर्हन करें, प्रातः जल्द उठकर मतदान की सभी तैयारियों पूर्ण कर लें ताकि समय से मतदान प्रारम्भ हो सके।
उक्त उदगार जिला निर्वाचन अधिकारी शिव सहाय अवस्थी ने पैरामेडीकल आडीटोरियम में लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2019 के अन्तर्गत पीठासीन अधिकारी सहित मतदान अधिकारी प्रथम, द्वितीय व तृतीय को सामान्य प्रशिक्षण व ईवीएम तथा वीवीपैट के प्रशिक्षण सत्र के दौरान व्यक्त किये। उन्होने कहा कि प्रशिक्षण के दौरान मास्टर ट्रेनर द्वारा जो जानकारियां दी जा रही है, उन्हे बेहद संवेदनशील होकर आत्मसात करें, यदि कोई बात समझ नही आये तो बिना संकोच पुनः जानकारी ले ओर सारी जिज्ञासाओं को शान्त करें।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने प्रथम पाली में आये पीठासीन अधिकारी सहित प्रथम, द्वितीय व तृतीय मतदान अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि वोटिंग कम्पार्टमेंट ऐसे स्थान पर बनाये जहां से मतदान की गोपनीयता भंग न हो साथ ही वहां सीसीटीवी कैमरा है तो उसे बंद कर दे व कैमरे को काले कपड़े से ढक दे। उन्होने पीठासीन अधिकारी से कहा कि भारत निर्वाचन आयोग ने इस बार वोटर पर्ची को मान्यता नही दी है। वोट करने के लिए आयोग द्वारा 11 विकल्प दिए गये है उनमें से कोई एक साथ लाना होगा तभी मतदान कर सकेगे। उन्होने कहा कि मतदान हेतु आधार कार्ड के प्रयोग पर संवेदनशील होकर जांच करे ताकि फर्जी वोटिंग न हो सके। पोलिंग ऐजेन्ट अपने साथ मोबाइल नही रखेगे। साथ ही आईडी कार्ड अपने पास रखे यह भी सुनिश्चित कर ले।
पैरामेडीकल आडीटोरियम में प्रशिक्षण के दौरान मास्टर ट्रेनर सामान्य डीआईओएस डाॅ. एन.के. पाण्डेय ने सामान्य प्रशिक्षण में उपस्थित पीठासीन अधिकारी, मतदान अधिकारी प्रथम, द्वितीय व तृतीय को उनके द्वारा किये जाने वाले कार्यो को बिन्दुवार समझाया। उन्होने कहा कि पीठासीन अधिकारी मतदान केन्द्र का प्रभारी होगा और सभी मतदान अधिकारियों द्वारा किये जा रहे कार्यो पर नियंत्रण रखेगा तथा अन्य कार्य कलापों का निस्तारण करायेगा। उन्होने कहा कि आज निर्वाचन सम्बन्धित सामग्री का थैला दिया जा रहा है उसका मिलान अवश्य कर ले, यदि कोई कमी हो तो तत्काल उसे पूरा कर ले। उन्होने कहा कि मतदान कार्मिक अपने मताधिकार का प्रयेाग अवश्य करे, जिन्हे पोस्टल वैलेड से या ईडीसी से मतदान करना है वह आवेदन कर ले। उन्होने प्रशिक्षण के दौरान प्राक्सी वोटर द्वारा मतदान, चैलेंज वोट व टैण्डर वोट की प्रक्रिया को सिलसिलेवार बताया। उन्होने मतदान समाप्ति एवं मतदान सामग्रियों को सुरक्षित संकलन केन्द्र पर जमा कराये जाने का भी प्रशिक्षण दिया।
मास्टर ट्रेनर ईवीएम/वीवीपैट आर.के. मौर्या ने प्रशिक्षण सत्र के दौरान बताया कि वीवीपैट बेहद संवेदनशील है उसे सीधे धूप व अधिक गर्मी से बचाया जाना महत्वपूर्ण है। उन्होने बीयू-सीयू के साथ वीवीपैट को कैसे लिंक किया जाना है जानकारी दी और बताया कि लिंक करते समय जोर आजमाइश का इस्तेमाल न करे साकेट दबाकर ही लिंक करें। उन्होने माॅकपोल के बोर में बताया कि यह बेहद महत्वपूर्ण है इसे पोलिंग ऐजेन्ट के समक्ष किया जाना है। माॅकपोल में कम से कम 50 वोट डाले जाने है ताकि पोलिंग एजेन्ट संतुष्ट हो जाए। सभी पोलिंग ए
जेन्ट से प्रमाण-पत्र पर हस्ताक्षर अवश्य करा ले।
आज 223 झांसी नगर विधानसभा के पीठासीन अधिकारी, मतदान अधिकारी प्रथम, द्वितीय व तृतीय के साथ ही सखी बूथ के कार्मिको को प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण दो पालियों में दिया गया। प्रथम पाली में 1 से 230 पार्टी संख्या तथा द्वितीय पाली 231 से 459 पार्टी संख्या के कार्मिक उपस्थित रहे।
इस मौके पर सामान्य प्रेक्षक डाॅ. रेनु एस. फलिया, प्रभारी कार्मिक/मुख्य विकास अधिकारी निखिल टीकाराम फुंडे, सहप्रभारी कार्मिक/पीडी डाॅ. आर.के. गौतम, डीडीओ उग्रसेन सिंह यादव, अधि.अभि. विद्युत डी. यादुवेन्द्र सहित अन्य अधिकारीगण भी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY